Join WhatsApp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

केकड़े पालन से होंगी अच्छी कमाई, कैसे करे इसका पालन और क्या है इनकी खुराक, जानिए

[ad_1]

केकड़े पालन से होंगी अच्छी कमाई, कैसे करे इसका पालन और क्या है इनकी खुराक, जानिए, आपने मुर्गी पालन, बकरी पालन, और बहुत से पालन देखे होंगे पर आज जो हम बात कर रहे है, केकड़ा पालन के बारे में अब केकड़ा पालन कर भी अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं. केकड़ा जिसे क्रैब्स भी कहा जाता है ये एक समुद्री खाद्य पदार्थ है. इसे ना सिर्फ भारत में ही बल्कि दुनिया के कई देशों के लोग बड़े ही चाव से खाते हैं. इसके खाने के कई सारे स्वास्थ्य लाभ भी हैं. बीते कुछ दशकों से अंतर्राष्ट्रीय बाजार में केकड़े की अच्छी खासी मांग बढ़ी है. आइये आपको बताते है केकड़े का पालन कैसे करे।

यह भी पढ़े- 35 का तगड़ा माइलेज देती है Maruti की शानदार कार, साइज़ में भी Alto K10 से बड़ी, फीचर्स के साथ कीमत भी है बेहद कम

केकड़े की प्रजातियां

image 1646
बड़ी प्रजातियाँ- इस प्रजाति के बारे में बताये तो बड़ी प्रजाति स्थानीय रूप से “हरे मड क्रैब” के नाम से जानी जाती है। बढ़ने के उपरांत इसका आकार अधिकतम 22 सेंटी मीटर पृष्ठ-वर्म की चौड़ाई और 2 किलोग्राम वजन का होता है। ये मुक्त रूप से पाये जाते हैं और सभी संलग्नकों पर बहुभुजी निशान के द्वारा इसकी पहचान की जाती है। यह थी बड़े केकड़े की प्रजाति की जानकारी।
छोटी प्रजातियाँ- अब बात छोटे प्रजाति जी करे तो छोटी प्रजाति “रेड क्लॉ” के नाम से जानी जाती है। बढ़ने के उपरांत इसका आकार अधिकतम 12.7 सेंटी मीटर पृष्ठवर्म की चौड़ाई और 1.2 किलो ग्राम वजन का होता है। इसके ऊपर बहुभुजी निशान नहीं पाये जाते हैं और इसे बिल खोदने की आदत होती है। घरेलू और विदेशी दोनों बाजार में इन दोनों ही प्रजातियों की माँग बहुत ही अधिक है

कैसे करे केकड़े का पालन

image 1648

अब आपको इसके पालन के बारे में बताये तो मीठे पानी में केकड़े की खेती को क्रैब फार्मिंग कहा जा सकता है. इस प्रक्रिया के तहत खेतों में कृत्रिम तालाबों का निर्माण कर इसमें क्रैब्स यानी केकड़े छोड़ दिए जाते हैं, लेकिन इससे पहले क्रैब्स सीड को छोटे कंटेनर या खुले पानी के बक्से में डाला जाता है. जिसके बाद इन्हें इन तालाबों में छोड़ दिया जाता है. फिर केकड़े यहाँ बड़े होते है बाद में इनको पकड़ के बाजार में बेचने भेज दिया जाता है.

केकड़े की यह होती है खुराक

image 1647

यह भी पढ़े- मात्र 10 हजार रू में आता है Oppo का शानदार स्मार्टफोन, बेहतरीन स्पेसिफिकेशन और दमदार कैमरा भी है मौजूद

अब केकड़े की खुराक की बात करे तो केकड़े को खाने के लिए चारे के रूप में प्रतिदिन ट्रैश मछली, नमकीन पानी में पायी जाने वाली सीपी या उबले चिकन अपशिष्ट उन्हें उनके वजन के 5-8% की दर से दे सकते है. इसके साथ ही आप जो लोग मछलियां बेचते है उनका वेस्ट या सुकट चारे के रूप में डाल सकते हैं. यह थी केकड़े की खाने की जानकारी।

केकड़े पालन से आमदनी

अब बात केकड़े की फार्मिंग से मुनाफे की करे तो विदेश तथा घरेलु बाजार में मड केकड़ों की अच्छी खासी मांग रहती है । इसकी क़्वालिटी पर इसका बाजार भाव निर्भर करता है और इसका बाजार भाव बहुत अच्छा होता है. इतना मुनाफा होता है यह थी केकड़े के पालन से जुडी जानकारी।

[ad_2]

Join WhatsApp Group Join Now
Join Telegram Group Join Now

Leave a comment